उलझन !मेरे दिल की ....

उलझन !.मेरे दिल की ....दिल की लड़ाई अब भी दिमाग से है !

91 Posts

290 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 12147 postid : 643734

बिग बॉस की जरुरत क्या है ?

  • SocialTwist Tell-a-Friend

आज कल टी वी के एक चेनल “कलर ” पर बिग बास नाम का रियल्टी शो बड़ा प्रसिद हो रहा है | जिसे हमारे दबंग नायक बड़े अटपटे तरीके से पेश कर रहे है | जिसके ६ शो पहेले भी आ चुके है |
प्रथम शो जिसमे फ्लैप हीरो राहुल राय ने जीता , जिस को मुन्ना भाई के सर्किट अरसद वारसी ने पेश किया था और मुख्या कलाकार थे राखी सावंत , बॉबी डार्लिंग , बाबा सेहगल आर्यन बेधय, रवि किशन यानि सब खाली जिन्हे कोई काम नही था | तब सोनी चेनल पर आता था |

दूसरे शो मैं एक फ्लाप गालियो के लिए प्रसिद्द टी वी सीरियल “रोडिस ” विजेता आशुतोष कौशिक मोटी रकम जीत चुके है | अन्य कलाकारो मैं राहुल महाजन , मोनिका बेदी ,संजय निरुपम सम्भावना सेठ आदि मुख्य थे वेदेशी तत्व के रूप मैं जेड गुडी को रखा गया था | पेश किया था योग गर्ल शिल्पा सेट्टी ने ,|
तीसरा शो जिसे जीता देश मैं चल रहे मैच फिक्सिंग के गोरख धंदे के सरताज़ के रूप मैं पकड़े गये और भारत के असली नायक दारा सिंह के नाम को डूबने बाले बिंदु सिंह ने ,ऐसे पेश किया अपने करोरपति बनाने के ढेकेदार ,विजय दिना नाथ चोहान यानि अमिताभ बच्चन ने , मसाले के रूप मैं शर्लिन चोपड़ा , विनोद कांबली , राजू श्रीवास्तव का तड़का भी था | साथ ही अनेक फ़िल्मी अभिनेता- नेत्री अपनी फिल्मो के प्रचार के लिए इसमे आता जाते रहे |
चौथी शो से आये अपने दबग भाई सलमान , जिनके घर मैं रहे मेहमानो मै साइनी आहूजा जो कि महिला उत्पीड़न के मामले से अब बरी हुआ है और सारा खान , तरुन्न्म, गायक शान , स्टार राजेश खन्ना चंकी पाण्डेय ने भी अपने पुराने निस्प्रभावी जलवे दिखाए | अभिनेत्री स्वेता तिवारी विजेता रही |
पाचवे शो को होस्ट किया संजू बाबा और उनके चेले सलमान भाई ने मिलकर ., अन्य एतिहासिक चरित्र थे पूजा बेदी , अमर उपाध्याय , सन्नी लियोन , सक्ति कपूर , निहिता ( शोभ राज की पत्नी ) पर विजेता रही जूही परमार अभिनेत्री |
छठे शो मे भी सलमान भाई रहे और प्रतिभागी थे सिद्धू , सना खान , उर्वशी दोलाकिया ( विजेता ) और
ये सब ही असल जिन्दगी मे भारत के नायक बनने के दौड़ मे भी नही हो सकते क्युकी सामाजिक जीवन और वयवसायिक जीवन दोनों मे कुछ खास नही कर पाये |
ये सीरियल विदेशी अमेरिका के सीरियल बिग ब्रोदर का देशी रूपान्तर कहा जाता है| पर नगापन -असलीलता उतनी ही है जितना असली मे थी
|बल्कि भारत कि सामाजिक मान्यताओ के हिसाब से यहा जायदा डाली गयी है | छाट- छाट कर बे लोग रखे जाते है इसमे जो बदनाम होते है ,पर ये देशी तो जब होता जब बिग बॉस का घर किसी ऋषि के आश्रम जैसा होता जहा पर प्राचीन भारतीय संस्कारो से युक्त जीवन दिखाया जाता |जहा योग , बेद , शिक्षा , राजनीति पर चर्चा होती | बैसा जीवन ही जिया जाता | देशी भारतीय तरीके होते | तब समाज को कुछ सीखने को भी मिलता परन्तु इसमे तो पता नही क्या रियल्टी दिखाना चाह रहे है ये लोग , असल मे बिग बास जैसे सीरियल कोई रियल्टी शो नही है सब कुछ पूर्व निर्धारित लिखित होता है | जिसे दर्शोको के एच्छा के अनुसार दिखाया जाता है ,जिसने सन्नी लियोन को भी भारत मे रोजगार दिलवा दिया है | पोर्न फिल्मो पर बहस अब घरो तक आ आगयी है असल जिन्दगी के फ्लाप लोगो की नकली बनावटी जिन्दगी लोगो को अश्लीलता , नंगापन , मुरखता , स्तरहीन भाषा का प्रयोग ही सिखला रही है | निर्माता समाज के किन वर्गों का मनोरंजन कर रहे है ये समझ से परे है | मनुष्य की अपूर्ण , दमित भावनायो को साकार करके परदे पर दिखाया जाना ही इस शो की प्रसिद्दी का एक मात्र कारण है | जो समाज के पतन का संकेत है | इस प्रकार की काल्पनिक जीवन को देखकर ही युवा वर्ग बिचलन करता है और अपनी असामान्य भावनायो और लिप्सा पूर्ति हेतु अपराध के और चल पड़ता है या ना कामयाबी मिलने पर हताशा मे जीवन जीता है | जीवन कि समाप्ति कि और चल पड़ता है | इस प्रकार के शो भी पर सेंसर जैसी प्रकिर्या जरूरी है |जो कुछ हद्द तक गंदगी रोके |
सबसे जरूरी है की मनोरंजन के साधनों का प्रयोग देश प्रेम , निर्माण , संस्कारो , रोजगार समस्या मूलक ,बुराइयों को दूर करने मैं और चरित्र निर्माण के लिए हो , ताकि समाज और देश का निर्माण मजबूती से हो सके | आने बाली सांस्क्रतिक चुनोतियो का सामना किया जा सके | एस राह पर बड़ी गहरी खाइया है नयी पीढ़ियों को हमें ही सही रास्ता दिखाना होंगे |



Tags:

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



latest from jagran